निर्भया कांड के हुए नौ साल, पर क्या महिलाएं सुरक्षित हैं आज ?

Spread the love

नई दिल्ली। दिल्ली में निर्भया कांड को सामने आए ठीक नौ साल पूरे हो चुके हैं। वर्ष 2012 में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुई यह एक ऐसी भयानक घटना थी, जिसकी याद आज भी किसी भी व्यक्ति की रूह को हिला देती है। 16 दिसंबर 2012 को हुए इस मामले ने अंतरराष्ट्रीय सुर्खियां बटोरीं थीं, जिसके बाद भारत में महिलाओं के खिलाफ होने वाली यौन हिंसा के कानून को बदलने को लेकर बहस तेज हुई। इसके बाद रेप जैसे मामले में सजा को सख्त करने की मांग की गई। कानून में भी बदलाव भी लाए गए और महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाई गई योजनाओं के लिए एक कोष की स्थापना की गई। हालांकि, देश भर में बलात्कार के आंकड़े अभी भी हतोत्साहित करने वाले हैं और आंकड़ों के मुताबिक, दोष साबित करने की दर कम बनी हुई है।

नतीजतन 2012 के निर्भया कांड के बाद आपराधिक कानून में किए गए परिवर्तनों से वांछित परिणाम नहीं मिले हैं क्योंकि समस्या कानून को एक निवारक बनाने के लिए कार्यान्वयन के साथ है। इसलिए, कई साल बाद न्याय तो मिला पर इसकी सीख का पता नहीं क्योंकि महिला सुरक्षा आज भी एक बढ़ा सवाल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *